Shukra Mantra – शुक्र मंत्र

Shukra Mantra

|| शुक्र मंत्र ||
ऊँ शुं शुक्राय नम:

|| शुक्र का वैदिक मंत्र ||
ऊँ अन्नात्परिस्रुतो रसं ब्रह्मणा व्यपिबत क्षत्रं पय: सेमं प्रजापति: |
ऋतेन सत्यमिन्दियं विपान ग्वं, शुक्रमन्धस इन्द्रस्येन्द्रियमिदं पयोय्मृतं मधु ||

|| शुक्र का पौराणिक मंत्र ||
ऊँ हिमकुन्दमृणालाभं दैत्यानां परमं गुरुम सर्वशास्त्रप्रवक्तारं भार्गवं प्रणमाम्यहम ।

Shukra Mantra

|| शुक्र तान्त्रिक मंत्र ||
ऊं द्रां द्रीं द्रौं स: शुक्राय नम:
हिन्दू धरम शास्त्रों के अनुसार शुक्र मंत्र का विधि पूर्वक जाप करने शुक्र गृह प्रसन्न होकर शुभ फल देते हैं|

|| शुक्र मंत्र का १६००० बार जप करना चहिये ||

Comments

Write a Reply or Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *





Related Posts