श्री गणेश का इंसान के मुख वाला एकमात्र मंदिर

श्री-गणेश-का-इंसान-के-मुख-वाला-एकमात्र-मंदिर

श्री गणेश का इंसान के मुख वाला एकमात्र मंदिर

तमिलनाडु के तिलतर्पण (कूटनूर) में स्थित आदि विनायक मंदिर, जहाँ भगवान गणेश का चेहरा इंसान स्वरुप में है। आज तक हम सभी ने श्री गणेश का सिर्फ़ गजमुख वाला स्वरुप ही देखा और सुना है। 

पर दक्षिण भारत में स्तिथ आदि विनायक इसका अपवाद है। यह विश्व में एक मात्र ऐसा मंदिर है जहाँ भगवान गणेश को गजमुखी न होकर इंसान स्वरुप स्थापित किया गया है। 

सिर्फ श्री गणेश की इंसान रूपी मूर्ति के अलावा यह मंदिर दुसरी खूबी ये है की आदि विनायक मंदिर एक मात्र गणेश मंदिर भी है जहां लोग पितरों की शांति के लिए पूजा करवाने आते हैं। 

 

श्री गणेश का इंसान के मुख वाला एकमात्र मंदिर
श्री गणेश का इंसान के मुख वाला एकमात्र मंदिर

ऐसा इसलिए है क्यूंकि पुरानी मान्यता के अनुसार भगवान श्रीराम ने अपने पूर्वजों की शांति के लिए पूजा इसी मंदिर में की थी। और इसी के चलते आज भी कई भक्त अपने पूर्वजों की शांति के लिए यहां पूजा करने आते हैं।

सामान्यतः पितृदोष के लिए नदियों के किनारे तर्पण की विधि की जाती है लेकिन इस मंदिर की खूबी के कारण इस जगह का नाम ही तिलतर्पणपुरी पड़ गया है। इस मंदिर के कारण यहां दूर-दूर से लोग अपने पितरों के निमित्त पूजन कराने आते हैं।

तमिलनाडु के कुटनूर से लगभग 2 कि.मी. की दूरी पर तिलतर्पण पुरी नाम की एक जगह है, यहीं पर भगवान गणेश का यह आदि विनायक मंदिर है। इस मंदिर में श्री गणेश के नरमुखी रूप के साथ-साथ भगवान शिव का भी मंदिर है।