Mahashivratri 2019 | महाशिवरात्रि 2019 | ghumteganesh.com

Mahashivaratri | महाशिवरात्रि

Mahashivratri


Mahashivaratri | महाशिवरात्रि

mahashivratri
शिवरात्रि महाशिवरात्रि

देवों के देव महादेव और माता पार्वती की शादी की सालगिरह के रूप में पुरे भारतवर्ष में शिव भक्तों द्वारा मनाया जाने वाला त्यौहार है महाशिवरात्रि।

दुसरे सभी प्रमुख त्यौहार जो की दिन में मनाएं जाते है महाशिवरात्रि इन सभी त्यौहारों के विपरीत रात में मनाई जाती। भक्त अपने प्रिय भगवान को खुश करने की लिए दिन में उपवास रखते हैं और रात भर जाग कर शिव महिमा में लीन हो भजन कीर्तन करते हैं।

कई भक्त महादेव और पार्वती की शादी का आयोजन रखते है और अपने परिवार और मित्रों के साथ हर्षो उल्लास के साथ त्यौहार को मानते हैं।

महाशिवरात्रि भक्तों के लिये एक बड़ा ही महत्वपूर्ण दिन होता है। महाशिवरात्रि के दिन भक्त अपने अपने तरीके से शिव को खुश करने की कोशिश करते हैं।

इस दिन दान का भी बहुत महत्त्व होता है और भक्तों द्वारा भंडारों का आयोजन किया जाता है। शिव मन्दिरों में साज़-सज्जा की जाती है और सुबह से ही भक्त दर्शन के लिए मन्दिर पहुँचने लगते हैं।

दुध, घी, जल, पंचामृत से शिवलिंग का अभिषेक किया जाता है , शिवलिंग का श्रृंगार किया जाता है और हर्षो उल्लास के माहौल में भजन करते हैं।

महाशिवरात्रि हिंदू महीने के अनुसार फाल्गुन माह में अमावस्या की 14 वीं रात को पड़ती है, यह तिथि अंग्रेजी कैलेंडर के अनुसार मार्च माह में आती है। शिव भक्त महाशिवरात्रि को बहुत ही शुभ दिन मानते हैं , पौराणिक कथाओं के अनुसार महाशिवरात्री के और भी कई मायने हैं।

किंवदंतियों के अनुसार महाशिवरात्रि ही वो दिन था जब शिव जी ने अपने आप को लिंग स्वरूप के प्रकट किया था, कुछ के अनुसार शिवरात्रि की रात ही मौलिक निर्माण, संरक्षण और विनाश को दर्शाने वाले नृत्य ‘तांण्डव‘ का प्रदर्शन शिव ने किया था और इस कारण भी महाशिवरात्रि की तिथि महत्वपूर्ण बन जाती है। महाशिवरात्रि जीवन और दुनिया में अंधेरे और अज्ञान पर काबू पाने की याद दिलाता है।

Shivaratri Mahashivratri

Mahashivratri is a festival celebrated by Shiva devotees throughout India as wedding anniversary of God Mahadev and Mother Parvati. Other major festivals that are celebrated in the day time in contrast to all these festivals, shivratri is celebrated at night.

Devotees keep fasting in the day to please their beloved God and awaken throughout the night by singing prayers and songs praising shiva.

Many devotees organize the marriage of Mahadev and Parvati and celebrate the festival with joy with their families and friends. Mahashivratri is a very important day for the devotees.

On Mahashivratri, devotees try to please Shiva in their own way. Donation is considered very important on this day and food is distributed by devotees to the needy. Shiva temples are decorated and from early morning the devotee starts reaching the temple to worship and show reverence to shiva. Abulation by milk, ghee, Panchamrta and water is done on Shivalinga. Shivlinga is then decorated and devotees sing bajan with joy and glee.

According to Hindu calendar Mahashivratri falls in the month of Falgun on the 14th night of the new moon, according to the English calendar this date falls in the month of March.

Shiva devotees consider Mahashivaratri a very auspicious day, according to mythology, Mahashivaratri has many other meanings. According to the legends, mahashivratri was the day when Shiva had manifested himself as a Linga form, according to some, Shiva performed the dance ‘Tandav‘, showing the original creation, protection and destruction on the night of shivratri and due to this mahashivratri becomes important. Maha shivratri reminds us to overcome darkness and ignorance in life and in the world.

Mahashivratri

|| श्री गणेश | Shree Ganesha ||

PropellerAds

|| महादेव | Mahadeva ||

|| हनुमान | Hanuman ||

PropellerAds

|| ज्योतिर्लिंग | Jyothirling ||

|| भगवान राम ||

PropellerAds

|| भगवान शिव ||

|| माँ दुर्गा ||

PropellerAds

|| ३१ गणेश भजन||

|| ४२ आरती संग्रह ||

|| नवग्रह मंत्र ||

|| नवग्रह कवच ||

PropellerAds

|| टोटके ||

PropellerAds

|| Ganesh ||

|| भगवान शनि देव ||

|| राशिफल 2019 ||

|| आरती ||

|| भगवान के सात दिन ||
|| Seven days of God ||


अपने शहर के प्रसिद्ध गणेश मंदिर के बारे में जानकारी शेयर करे

Share information about the famous Ganesh temple of your city

Learn More >>