केतु मंत्र

Ketu Mantra


|| केतु मंत्र ||

Ketu Mantra

|| केतु बीज मंत्र ||
ऊं कें केतवे नम: |

|| केतु गायत्री मंत्र ||
ओम् गदाहस्ताय विद्मिहे अमृतेशाय धीमहि |
तन्नो: केतु: प्रचोदयात ||
केतु तांत्रिक मंत्र
ऊँ स्त्रां स्त्रीं स्त्रौं स: केतवे नम:
केतु वैदिक मंत्र
ऊँ केतुं कृण्वन्नकेतवे पेशो मर्या अपेश से। सुमुषद्भिरजायथा:
केतु पौराणिक मन्त्र
पलाशपुष्पसंकाशं तारकाग्रहमस्तकम् |
रौद्रं रौद्रात्मकं घोरं तं केतुं प्रणमाम्यहम् ||

केतु मंत्र जप संख्या – 17000
केतु मंत्र जप समय – शाम के समय |