Durga Bhajan

मेहरांवाली दाती रखी चरना दे कोल


लारा लाके न लंभी पाई डेट माये नि


रेहमता माँ तेरिया माँ रेहमता माँ तेरियां


मैया जी मैनु लाओ चरनी


माँ चिंतपूर्णी मैनु रंग च रंगा


विद्या की देवी तू दानी महान


पत्थरां च रहन वालिये


मैया जय तेरे बेटों को न घर चाहिए


नच भगता आज माँ दे द्वारे


माँ मनसा देवी झोली मेरी आज भरदे


दूर करो दुःख दर्द सब


रेहमता तेरियां ने चंडी माँ


माँ को याद न आए, चाहे माँ को याद न आए


मायें नी मेरी वार क्यों


मैं तेरे दर पे आया हूँ


मुझे अपनी माँ से गिला


भरलो झोलियां


मिल गया दर तेरा शेरावाली मैया


हम द्वार मैया के जाएंगे


सोहणा दर शेराँवाली दा हो


ज्योतां वाली दा जैकारा


तू आजा माँ बड़े चिर तो लगी है आस दर्शन दी


तेरा भवन है रंग बिरंगा


तेरे नाम का जैकारा माँ


चरणों में खड़े सवाली ले पूजा की थाली


जय जय माँ दुर्गा काली


ज्योता वालिये माँ


नवदुर्गा मंत्र

प्रथम दुर्गा : श्री शैलपुत्री मंत्र


द्वितीय दुर्गा : श्री ब्रह्मचारिणी मंत्र


तृतीय दुर्गा : श्री चंद्रघंटा मंत्र


चतुर्थ दुर्गा : श्री कूष्मांडा मंत्र


पंचम दुर्गा : श्री स्कंदमाता मंत्र


षष्ठम दुर्गा : श्री कात्यायनी मंत्र


सप्तम दुर्गा : श्री कालरात्रि मंत्र


अष्टम दुर्गा: श्री महागौरी मंत्र


नवम् दुर्गा: श्री सिद्धिदात्री मंत्र


नवदुर्गा आरती

सारे जग की पालनहार मैया बस तू ही तू


आरती देवी सिद्धिदात्री जी की


आरती देवी स्कन्दमाता जी की


आरती देवी कात्यायनी जी की


आरती देवी कालरात्रि जी की


आरती देवी कूष्माण्डा जी की


आरती देवी चन्द्रघण्टा जी की


आरती देवी ब्रह्मचारिणी जी की


आरती देवी महागौरी जी की


आरती देवी शैलपुत्री जी की