Breaking News

Ram Chalisa

राम चालीसा

राम चालीसा

Shree Ram chalisa ॥चौपाई॥ श्री रघुवीर भक्त हितकारी। सुन लीजै प्रभु अरज हमारी॥निशिदिन ध्यान धरै जो कोई। ता सम भक्त और नहिं होई॥1॥ ध्यान धरे शिवजी मन माहीं। ब्रह्म इन्द्र पार नहिं पाहीं॥दूत तुम्हार वीर हनुमाना। जासु प्रभाव तिहूं पुर जाना॥2॥ तब भुज दण्ड प्रचण्ड कृपाला। रावण मारि सुरन प्रतिपाला॥तुम अनाथ के नाथ गुंसाई। दीनन के हो सदा सहाई॥3॥ ब्रह्मादिक …

Read More »