Ram bhajan

Neend se ab jaag bande

Neend se ab jaag bande

नींद से अब जाग बंदे,राम में अब मन रमा,निरगुना से लाग बंदे,है वही परमात्मा, हो गई है भोर कब से ज्ञान का सूरज उगा,जा रही हर सांस बिरथा सांई सुमिरन में लगा,नींद से अब जाग बंदे……. फिर न पायेगा तुं अवसर कर ले अपना तू भला,स्वप्न के बंधन है झूठे मोह से मन को छुड़ा,नींद से अब जाग बंदे…… धार …

Read More »

पायो जी मैंने राम रतन धन पायो |

पायो जी मैंने राम रतन धन पायो | वस्तु अमोलिक दी मेरे सतगुरु | कृपा कर अपनायो ||

payoji maine ram ratan dhan payo पायो जी मैंने राम रतन धन पायो | वस्तु अमोलिक दी मेरे सतगुरु | कृपा कर अपनायो || जन्म जन्म की पूंजी पाई | जग में सबी खुमायो || खर्च ना खूटे, चोर ना लूटे | दिन दिन बढ़त सवायो || सत की नाव खेवटिया सतगुरु | भवसागर तरवयो || मीरा के प्रभु गिरिधर …

Read More »

प्रेम मुदित मन से कहो राम राम राम, राम राम राम, श्री राम राम राम |

प्रेम मुदित मन से कहो राम राम राम, राम राम राम, श्री राम राम राम |

Prem mudit man se kaho ram ram प्रेम मुदित मन से कहो राम राम राम, राम राम राम, श्री राम राम राम | पाप कटें दुःख मिटें लेत राम नाम | भव समुद्र सुखद नाव एक राम नाम || परम शांति सुख निधान नित्य राम नाम | निराधार को आधार एक राम नाम || संत हृदय सदा बसत एक राम …

Read More »

सीता राम सीता राम सीता राम कहिये

सीता राम सीता राम सीता राम कहिये

sita ram sita ram sita ram kahiye सीता राम सीता राम सीताराम कहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये | मुख में हो राम नाम राम सेवा हाथ में, तू अकेला नाहिं प्यारे राम तेरे साथ में | विधि का विधान जान हानि लाभ सहिये, जाहि विधि राखे राम ताहि विधि रहिये || किया अभिमान तो फिर मान नहीं …

Read More »

ठुमक चलत रामचंद्र, बाजत पैंजनियां |

Thumak chalat ramchandra

Thumak chalat ramchandra Thumak chalat ramchandra bajat paijaniya ठुमक चलत रामचंद्र, बाजत पैंजनियां | किलकि किलकि उठत धाय, गिरत भूमि लटपटाय | धाय मात गोद लेत, दशरथ की रनियां || अंचल रज अंग झारि, विविध भांति सो दुलारि | तन मन धन वारि वारि, कहत मृदु बचनियां || विद्रुम से अरुण अधर, बोलत मुख मधुर मधुर | सुभग नासिका में …

Read More »