आमंत्रण

निमंत्रण

आमंत्रण

घूमते गणेश आयोजन में मंगलमूर्ति श्रीगणेश को आमंत्रित करने के लिए यजमान को शहर के बंधू बांधवो को आमंत्रित करना होगा ताकि अधिक से अधिक लोग आशीर्वाद ले सके साथ ही गणराज भी भक्तो की भीड़ से आनंदित हो उठे , तीन दिनों के इस आयोजन में विघ्हर्ता के सिंहासन को सजा कर , भक्तो और गणपति महाराज के भंडारे का आयोजन करना होगा। इस आयोजन में नियमित रूप से सुबह शाम श्रृंगार , भव्य महाआरती , भोग प्रसादी और अथर्वशीर्ष का १०८ बार पाठ होगा , गणेश गायत्री मंत्र की आहुति होगी और भजन होंगे।

Amantran
Amantran

गणपति महाराज के इस अनूठे आयोजन में गणराज अपने सेवादार, आचार्य , भजन मंडली और सेवक मंडली के साथ ले के पधारेंगे

घूमते गणेश के इस आयोजन में विघ्नहर्ता मंगलमूर्ति के भव्य मंदिर का भी निर्माण किया जायेगा। गणेश यजमान के परिजनों और बांधवो के यंहा भ्रमण पर भी जायेंगे , इस समय घूमते गणेश के स्थान पर नन्हे गणेश उनके सिंहासन पर विराजमान होंगे और भक्तों को दर्शन देंगे मंदिर में रोजाना भण्डारे और प्रसादी की व्यवस्था चलती रहेगी । भंडारे में रोज विभिन्न प्रकार के लड्डुओं , मोदक और मिष्ठान्नों के भोग के साथ खिचड़ी बनेगी।

 Contact
: +91-72250-00707
:[email protected] 

Latest Post >>