महामृत्युंजय मंत्र / संजिवनी मंत्र

महामृत्युंजय मंत्र / संजिवनी मंत्र

जय श्री घुमतेगणेश 

हर घर गणेश, घर घर गणेश 

महामृत्युंजय मंत्र को संजिवनी मंत्र भी कहा गया है। शिव जी की उपासना और आराधना करने के लिए किया जाने वाले यह मन्त्र ‘महामंत्र’ भी कहा जाता है। महामृत्युंजय मंत्र को संजिवनी मन्त्र इसलिए कहा जाता है क्यूंकि इस मन्त्र में कई शक्तियाँ हैं। इस मन्त्र के उच्चारण से जो ध्वनियाँ उत्पन्न होती हैं वह हमारे शरीर के चारों ओर दैविक शक्तियों का एक कवच सा बना देती हैं। महामृत्युंजय मंत्र के नियमित जप के कई लाभ है। महामृत्युंजय मंत्र का नियमित जप करने से विपतियाँ, दुर्भाग्य, अमंगल, दुर्घटना मानव से दूर रहती हैं। नियमित मंत्रोउच्चारण मनुष्य के जीवन में सुख, समृद्धि और शांति लाता है। आप चाहें तो महादेव का अभिषेक करते समय भी महामृत्युंजय मंत्र का जप कर सकते हैं। किसी परिवारजन, मित्र आदि के गंभीर बिमारी की अवस्था में उसके पास महामृत्युंजय मंत्र को निरंतर चलने दें बिमार व्यक्ति की अवस्था में तुरंत ही लाभ दिखने लगेगा। अगर बिमार व्यक्ति के पास यह चलाना संभव ना हो तो आप किसी मन्त्र ज्ञाता को अस्वस्थ व्यक्ति के स्वास्थ लाभ हेतु १००८ बार महामृत्युंजय जप करने का बोल सकते हैं। महामृत्युंजय मंत्र जपने से अकाल मृत्यु तो टलती ही है, आरोग्यता की भी प्राप्ति होती है।

चमत्कारी महामृत्युंजय मंत्र का जप आप नियमीत रूप से कर सकते है किन्तु निम्नलिखित कुछ परिस्थितियों में सुरंत लाभ के लिए भी विशेष रूप से महामृत्युंजय मंत्र का जप किया जाता है

– किसी गम्भीर महारोग, दुर्घटना से पीड़ित व्यक्ति के पास १००८ बार महामृत्युंजय का निरंतर जप, तुरंत स्वास्थ लाभ प्रदान करता है और रोगी की अवस्था में सुधर लाने में कारगर है।

– माहामारी फली हो और कई लोग उसकी चपेट में आ रहे हों। मानव कल्याण के लिए जितना ज़्यादा हो सके महामृत्युंजय का निरंतर जप सभी के लिए कल्याणकारी होगा और स्थितियों को सुधारेगा।

– राष्ट्र पर भरी विपदा आयी हो जैसे की दूसरे देश ने हमला किया हो, देशवासियों में आपस में परस्पर घोर क्लेश हूँ रहा हो, दंगा भड़का हुआ हो, प्राकृतिक विपदा आयी हो सभी स्थितियों में महामृत्युंजय का निरंतर जप सभी के लिए कल्याणकारी होगा और स्थितियों को सुधारेगा। 

१००८ बार महामृत्युंजय जप (उत्तम स्वास्थ्य हेतु)
1008 times mahamratunjay chanting (for good health)

 

शुल्क रूपये ५००१/- मात्र
Charges Rs. 5001/- only

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Select your currency
INR Indian rupee