मंदिर
( Click here for English )

घूमते गणेश के इस आयोजन में विघ्नहर्ता मंगलमूर्ति के भव्य मंदिर का भी निर्माण किया जायेगा।

गणेश यजमान के परिजनों और बांधवो के यंहा भ्रमण पर भी जायेंगे , इस समय घूमते गणेश के स्थान पर नन्हे गणेश उनके सिंहासन पर विराजमान होंगे और भक्तों को दर्शन देंगे मंदिर में रोजाना भण्डारे और प्रसादी की व्यवस्था चलती रहेगी ।

भंडारे में रोज विभिन्न प्रकार के लड्डुओं , मोदक और मिष्ठान्नों के भोग के साथ खिचड़ी बनेगी।